जिम ट्रेनर के साथ अफेयर से बढ़े तलाक के मामले

Divorce cases increased due to affairs with Gym trainer
पति का पत्नी को वक्त न दे पाना इस तरह के मामलों का मूल कारण है…

स्वाति देशपांडे, मुंबई : जिम न सिर्फ बॉडी को लेकर आपकी चिंता खत्म कर सकता है बल्कि आपके शादीशुदा जीवन का भी अंत कर सकता है। मुंबई में तलाक के मामलों की बड़ी वजह फिटनेस ट्रेनर्स के साथ अफेयर को देखा जा रहा है।

एक वकील ने बताया कि अक्सर विवाहित जीवन के अंत की वजह एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स ही होते हैं। मुंबई में इस तरह के मामलों में सामने आया है कि ट्रेनर के साथ ‘पर्सनल’ होकर महिलाएं पहले से मुश्किलों से गुजर रहे विवाहित जीवन में परेशानी को और बढ़ा देती हैं। नतीजा यह होता है कि कपल तलाक के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं। आमतौर पर ऐसे शादीशुदा जोड़े संपन्न परिवारों से होते हैं, जहां पति बिजनस में बिजी रहता है। ऐसे में, साथ और सुख को तलाश रही महिला को पर्सनल ट्रेनर में यह सब नजर आता है।

तलाक के मामलों को देखने वाली वकील मृदुला कदम ने कहा, ‘ऐसे बहुत से केस हैं जिनमें संकट से गुजर रहे शादीशुदा जीवन में गृहणियां दिन निकलने और दिन बीतने के वक्त जिम में ट्रेनर से मिलती हैं। यह नया संबंध महिला के अंदर ट्रेनर को लेकर भरोसा पैदा करता है। वह एक नजदीकी संबंध में खिंचे चले जाते हैं। यह नया रिलेशन एक कप कॉफी से या जिम में कुछ ज्यादा वक्त बिताने से शुरू होता है।

तलाक के मामलों की पेशेवर वकील मृणालिनी देशमुख कहती हैं, ‘आमतौर पर ऐसे केस आपसी सहमति के बाद एक साथ दाखिल किए जाते हैं लेकिन कोर्ट की कार्रवाई आमतौर पर मुश्किलों भरी साबित होती है। इस कोशिश में, कई बार पति-पत्नी के बीच जासूसी भी की जाती है। इसमें जिम के तौलिए को खोज निकालना या साक्ष्य के तौर पर कोई मेसेज तलाशने की कोशिश की जाती है।’ एक अन्य वकील के मुताबिक, एक शख्स ने धोखा दे रही अपनी पत्नी के ईमेल तक पहुंच बनाने के लिए एक खास तरह के सॉफ्टवेयर का भी इस्तेमाल किया।

बांद्रा फैमिली कोर्ट में आए एक केस में, एक धनी और व्यस्त उद्योगपति को उसके दो बच्चों की कस्टडी मिल गई लेकिन उसने पत्नी को गुजारा भत्ता और घर देकर अलग कर दिया। पति के मुताबिक उसकी पत्नी योग क्लास के दौरान योग ट्रेनर के साथ वक्त बिताती थीं।

एक अन्य केस में, 45 साल की महिला का उससे काफी कम उम्र के जिम ट्रेनर के साथ अफेयर सामने आया। पति अधिकतर समय बिजनस ट्रिप की वजह से बाहर ही रहता था। देखा गया है कि जिम ट्रेनर्स के साथ नजदीक आने की एक बड़ी वजह उनका फिट होना, अच्छा ऐटिट्यूड और अंग्रेजी भाषा पर बेहतरीन पकड़ होती है।

इस तरह के केस को देखने वाले एक वकील ने कहा, ‘हालांकि कई केस में, महिला के माता-पिता अपने दामाद के साथ खड़े ही दिखाई देते हैं। वह अपनी बेटी का साथ नहीं देते। आमतौर पर महिला आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर नहीं होती है और उसके पास बेहतर भविष्य की गुंजाइश के लिए करियर भी नहीं होता। बिजनसमैन पति सहमति का फैसला करता है और बच्चों को अपने साथ रखने की कोशिश करता है। वह पत्नी को अलग रहने के लिए घर भी देता जहां उसे उसे सिर्फ रहने का अधिकार देता है, मालिकाना हक नहीं।’

Source: Navbharat Times

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s